आंधी में दो की मौत के बाद घर पर मचा रहा कोहराम, एसडीएम व तहसीलदार ने घरों पर पहुंच कर सरकारी प्रशासनिक मदद का दिया भरोसा

आंधी में दो की मौत के बाद घर पर मचा रहा कोहराम, एसडीएम व तहसीलदार ने घरों पर पहुंच कर सरकारी प्रशासनिक मदद का दिया भरोसा
Spread the love

आज़मगढ़ : सरायमीर थाना क्षेत्र के नंदांव में शुक्रवार की शाम को आंधी के दौरान एक विद्यालय की छत ढालने की मशीन के साथ ढलाई का कार्य करने वाले सदाबृज पुत्र इन्द्रदेव (35), रबीन्द्र पुत्र छोटे लाल ( 35) तथा फिरन्ती पुत्र सुभग्गा लिन्टर का जाल उडने के कारण जाल के नीचे गिर गए । तीनो दीदारगंज थानान्तर्गत ग्राम सभा चितारा महमूद पुर के निवासी। घायलो मे सदाबृज तथा रबीन्द्र को डाक्टरो ने मृत घोषित कर दिया था तथा फिरन्ती को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। घायल फिरन्ती को परिजन रात्रि में घर चितारा महमूद पुर लेकर आए। घर आने पर फिरन्ती की तबियत बिगड़ने लगी तो परिजन उसको लेकर शाहगंज भागे जहा प्राइवेट अस्पताल में इलाज चल रहा है। शनिवार को शवों का पोस्टमॉर्टेम कराया गया। उधर मृतकों के घर पर कोहराम मचा रहा। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। मृतक सदाबृज पुत्र स्व इन्द्रदेव के दो बेटे चन्दन ( 11 ) कुन्दन ( 04 ) व दो बेटियां नन्दनी ( 13 ), चादनी ( 08 ) वर्ष तथा पत्नी रीता ( 31 ) है । परिवार चलाने के लिए छत की ढलाई का ठीका लेता था तथा एक सप्ताह पहले ही नया ट्रैक्टर भी खरीदा था परिवार की गाड़ी चलना शुरू ही हुई थी कि कहर ही टूट पडा। जबकि मृतक रबीन्द्र पुत्र छोटे लाल के एक लडका व दो लडकियां नीतू  (11), मुस्कान ( 04 ) लडका संगम ( 07 ) तथा पत्नी अनीता ( 32 ) है। अब सारी जिम्मेदारी मृतक के बुजुर्ग पिता छोटे लाल पर आ गयी। परिवारीजनो का रो रो कर बुरा हाल है। मृतकों के परिजनों को सान्त्वना देने उपजिलाधिकारी मार्टीनगंज इन्द्रभान तिवारी तथा तहसीलदार मनीष कुमार उनके घर पहुंचे तथा सरकार द्वारा सभी तरह की मिलने वाली सहायता दिलाने की नियमानुसार कोशिश करने का भरोसा दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *