डायल 100 पुलिस को देखते ही भाग रहा पशु लदा ट्रक अनियंत्रित हो कर पलटा, 9 मवेशियों की मौत 6 जिंदा मिले, लिखापढ़ी के बाद ग्रामीणों को सुपुर्द

डायल 100 पुलिस को देखते ही भाग रहा पशु लदा ट्रक अनियंत्रित हो कर पलटा, 9 मवेशियों की मौत 6 जिंदा मिले, लिखापढ़ी के बाद ग्रामीणों को सुपुर्द
Spread the love

आजमगढ़ : बरदह थाना क्षेत्र क्षेत्र के गोडहरा गांव के सिवान में कच्चे चकमार्ग पर सोलह टायर ट्रक मंगलवार की बीती रात 15 बैलों को लेकर जा रहा था। आशंका है कहीं कटने के लिए ट्रक ले जाया जा रहा था कि गंगी नदी के पास आजमगढ़-जौनपुर बॉर्डर पर डायल हंड्रेड पुलिस गाड़ी खड़ी थी जिसे देख कर ट्रक ड्राइवर घुमा दिया और दूसरे रास्ते से लेकर जाने लगा कि सामने रास्ता खत्म हो गया फिर उसे घुमाने लगा दूसरी तरफ ले जाने के लिए तभी ट्रक पलट गई इसके बाद ट्रक पर लदे 15 जानवरों में 9 जानवरों की दबने से मौत हो गई जिसमे  7 बैल व दो गाय थी। वही ट्रक ड्राइवर व खलासी मौके से फरार हो गए और यह सब ट्रक के सामने का शीशा तोड़कर बाहर निकले और फरार हो गए बुधवार की  सुबह कुछ ग्रामीण शौच करने गए थे और देखा तो इसकी सूचना तत्काल बरदह  थानाध्यक्ष को दिया मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी सुरेश चंद्र ने ग्रामीणों की मदद से किसी तरह ट्रक में दवे 9 जानवरों को बाहर निकलवाया जिसमे 7 बैल व दो गाय थी जो सभी मर चुके थे वही 6 बैलो को  जिंदा बचाया गया और ग्रामीणों को सुपुर्द कर दिया इसके बाद जेसीबी मशीन बुलायी गयी गांगी नदी के किनारे गांव के पूर्व प्रधान हरेंद्र यादव के खेत मे  सभी मरे हुए बैलो को गड्ढा खुदवाकर दफनाया गया इसके पहले पशु डाँक्टर रंजीत पाल ने सभी जानवरो का पोस्टमार्टम किया वही जो ट्रक पलटा था उसका दो नंबर प्लेट था अलग-अलग पुलिस मामले की जांच कर रही हैं।ट्रक को थाने पर लाया गया हैं। ग्रामीणों की भीड़ में तरह -तरह की चर्चाएं हो रही थी आखिर यह ट्रक इस रास्ते पर अनजान रास्ते पर कैसे आया हो सकता हैं कोई गांव का ही हो क्या पुलिस को इसकी सूचना नहीं मिल पाई रात में पुलिस गश्त करती है उनको इस बारे में जानकारी नहीं हो पाई रात में ना जाने कब का यह ट्रक पलटा हुआ है जो जानवर उस में लदे थे सभी के मुंह व पैर बांधे हुए थे जब ट्रक पलटा है सभी की सांसे रुक गई तो कुछ उसी में दब गए एक के ऊपर एक जानवर दबे पड़े थे कुछ के  मुंह से पानी झाग निकल रहा था ग्रामीण देखकर इस घटना को मर्माहत हो गए लोगों में काफी आक्रोश ब्याप्त था सभी  का कहना है जिस जगह घटना हुई है यहीं से 1 किलोमीटर आगे गंगी नदी है जो आजमगढ़ -जौनपुर बॉर्डर पर है एक तरफ बरदह थाना तो दूसरी तरफ जौनपुर जिले का गौरा बादशाहपुर थाना है इन दोनों थाना क्षेत्रों के बीच मे आए दिन बैल जानवर लादकर पिकअप गाड़ी से जाते हैं लेकिन पुलिस को इसकी सूचना तक नहीं मिलती है। जहां घटना हुआ वहां के बगल में काकोरी पुर गांव है जहां पर कसाई रहते हैं जो जौनपुर जिले के केराकत, मुक्तितीपुर, गौर बादशाहपुर कई जगहों से जानवर लेकर आते हैं और भेजते हैं रात-रात पुलिस भी सब कुछ जानती लेकिन कुछ कर नहीं पाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *