दलित पूर्व बीडीसी की ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या, घर से निकला था कोर्ट आने के लिए, बेख़ौफ़ हमलावरों ने पहले घेर कर की मारपीट, फिर दौड़ाया

दलित पूर्व बीडीसी की ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या, घर से निकला था कोर्ट आने के लिए, बेख़ौफ़ हमलावरों ने पहले घेर कर की मारपीट, फिर दौड़ाया
Spread the love

आजमगढ़। जहानागंज थाना क्षेत्र के मंदे ग्राम सभा के निवासी पूर्व बीडीसी मुसाफिर राम को गोली मारकर हत्या कर दी गयी। मृतक के परिजनों ने इस मामले में छह लोगों के खिलाफ मामला पंजीकृत कराया है। आरोप है कि पूर्व बीडीसी पर पहले भी फायरिंग हो चुकी थी और दबंगों की तरफ से लगातार धमकी दी जा रही थी। लेकिन पीड़ित पक्ष की तरफ से दो दिन पूर्व थाना पर शिकायत के बाद भी पुलिस कोई कार्रवाई नहीं की और यहाँ तक कि आरोपी के घर तक नहीं गयी। सुबह कोर्ट में चल रहे एक मामले की पैरवी के लिए पूर्व बीडीसी जा रहे तभी हमलावर घेर कर उनसे दस्तावेज़ मांगे, न देने पर पहले जम मारपीट की फिर भागने के प्रयास पर कई राउंड फायर कर मौत के घाट उतार दिया। घटना का कारण जमीनी विवाद भी बताया जा रहा है। आक्रोश ग्रामवासी व बाजार वासी मिलकर चिरैयाकोट आजमगढ़ मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। सीओ और थाना अध्यक्ष जहानागंज द्वारा ग्रामीणों को समझा-बुझाकर चक्का जाम समाप्त करवाया गया। मिली जानकारी के अनुसार जहानागंज थाना क्षेत्र के मंदे निवासी पूर्व बीडीसी मुसाफिर राम 55 वर्ष पुत्र मोहित वह सुबह 6:30 बजे के करीब गांव के पास हमलावरों ने गोली से मारकर फरार हो गए मुसाफिर राम की मौके पर ही मृत्यु हो गई। ग्रामीणों ने शव को चारपाई पर लादकर चिरैयाकोट आजमगढ़ मार्ग पर मंदे में चक्का जाम कर दिया। मौके पर सीओ समेत पांच थाने की पुलिस लोगों को समझा-बुझाकर जाम साथ समाप्त किया  घटना का मुख्य कारण जमीनी विवाद पुरानी रंजिश को लेकर हुई है मृतक आरटीआई के तहत गांव के विकास के कार्यों के बारे में मांग की थी। इस सारे पहलुओं पर पुलिस तफ्तीश कर रही है वही ग्राम प्रधान पति को पुलिस कब्जे में लेकर पूछताछ कर रही है। मृतक के पुत्र हरकेश राम ने 6 लोगों को नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। वही ग्राम प्रधान पति को लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। 1 वर्ष पहले भी मृतक के ऊपर हमला किया गया था जिसकी शिकायत उच्च अधिकारियों तक किया गया किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *