निज़ामाबाद के बड़सरा खालसा में ग्रामसभा की भूमि पर फर्जी प्रविष्टि, डीएम का संलिप्तों पर मुकदमा का निर्देश

निज़ामाबाद के बड़सरा खालसा में ग्रामसभा की भूमि पर फर्जी प्रविष्टि, डीएम का संलिप्तों पर मुकदमा का निर्देश
Spread the love

आजमगढ़ : कलेक्टर/उप संचालक चकबन्दी चन्द्र भूषण सिंह ने बताया है कि स्टेट बनाम ग्रामसभा व अन्य मौजा बड़सरा खालसा व नवली परगना निजामाबाद तहसील सदर के प्रकरण पर बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी की जांच आख्यानुसार, विवेचना एवं प्रमाणित साक्ष्यों के आधार पर ग्राम बड़सरा खालसा व नवली के ग्रामसभा खाते भूमि पर की गयी फर्जी प्रविष्टियों को अस्तित्व में बने रहने का कोई विधि सम्मत आधार नही है। उप संचालक चकबन्दी ने बताया है कि सर्वोच्च न्यायालय एवं उच्च न्यायालय के विधि व्यवस्थाओं के परिप्रेक्ष्य में बड़सरा खालसा के राजस्व अभिलेखों में पशुचर के खाते में कुल 36 गाटे क्षे0 30.855 एकड़ बंजर खाते में 75 गाटे क्षे0 71.236 एकड़, खलिहान के खाते में 2.114 एकड़ खाद गड्ढा में 1.065 एकड़ तथा ताल के खाते में 3.913 एकड़ तथा पोखरी के खाते में 4.025 एकड़ एवं ऊसर के खाते में क्षे0 25.650 एकड़ तथा भीटा के खाते में क्षे0 4.404 एकड़ पूर्ववत अंकित करने तथा ग्राम नवली के बन्दोबस्त में ताल के खाते में कुल क्षे0 28.531 एकड़, पोखरी के खाते में 1.660 एकड़ पूर्ववत अंकित करने आदेश दिए है। तथा उप जिलाधिकारी सदर को निर्देशित किया है कि उक्त भूखण्ड पर कब्जा प्राप्त करके उसे वास्तविक स्वरूप प्रदान करे तथा बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी को निर्देशित किया है कि उक्त फर्जी प्रविष्ट कारित करने में संलिप्त अधिकारियों/कर्मचारियों एवं लाभार्थियों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध लोक सम्पत्ति क्षति निवारण अधिनियम के अन्तर्गत एफआईआर दर्ज करायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *