नोडल अधिकारी व सिंचाई सचिव ने ली अधिकारियों की क्लास, निर्माण कार्यों की फोटोग्राफी व प्रशासनिक अधिकारियों को देखने को कहा

नोडल अधिकारी व सिंचाई सचिव ने ली अधिकारियों की क्लास, निर्माण कार्यों की फोटोग्राफी व प्रशासनिक अधिकारियों को देखने को कहा
Spread the love
आजमगढ़ : सचिव सिचाई एवं जल संसाधन उ0प्र0 साधन/नोडल अधिकारी चन्द्र प्रकाश त्रिपाठी ने निर्देश दिए है कि पीएमजीएसवाई की सड़कों की जांच टीएसी से करायी जाय। उन्होने समस्त कार्यदायी एजेन्सियों को निर्देशित किए है कि वे अपने निर्माण कार्यो को प्रशासनिक अधिकारियों को अवश्य दिखाये तथा कार्यो के प्रारम्भ, मध्य एवं पूर्ण होने की फोटोग्राफी अवश्य कराये।
उक्त निर्देश सचिव ने कलेक्ट्रेट सभागार में समस्त जनपद स्तरीय अधिकारियों एवं कार्यदायी संस्थाओं के विकास कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक एजेण्डा बिन्दु के अनुसार विस्तार से किया। बैठक में अनुपस्थित धान खरीद हेतु नामित एजेन्सियों को गम्भीरता से लेते हुए नोडल अधिकारी ने उनसे स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश देते हुए कहा कि अधिक से अधिक धान किसानों से क्रय किए जाये तथा क्रय एजेन्सियां निरन्तर क्रियाशील रहे। स्वास्थ्य विभाग के समीक्षा के दौरान सचिव ने सीएमओ को निर्देश दिए कि सभी सीएचसी/पीएचसी पर दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता रखते हुए चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित हो तथा मरीजों का बेहतर ईलाज हो। स्वास्थ्य उप केन्द्रों के निर्माण के सम्बन्ध में बताया गया कि 38 कार्यो को कार्यदायी संस्थाओं द्वारा अधूरा छोड़ दिया गया है। सचिव ने इस सम्बन्ध में शासन को अवगत कराने के निर्देश दिए।
नोडल अधिकारी ने नकल विहिन परीक्षा सम्पन्न कराने के निर्देश देते हुए कहा कि सेक्टर/स्टैटिक मजिस्ट्रेट परीक्षा केन्द्रों का चक्रमण करते रहे। उन्होने राज्य वित्त एवं 14 वित्त के कार्यो की निरन्तर निगरानी रखने के निर्देश डीपीआरओ को निर्देश दिया कि माडल स्टीमेट के रूप में हर गांव में सीसी रोड बनाए जाये और ग्राम प्रधानों का एक सम्मेलन करके उन्हे सीसी रोड बनाने हेतु जागरूक किया जाय। छात्रवृत्ति का वितरण समय से हो तथा डाटा वैरिफेक्शन अवश्य कराये जाये। कर-करेत्तर की समीक्षा के दौरान नोडल अधिकारी ने वसूली लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत पूर्ण करने के निर्देश देते हुए कहा कि राजस्व विभाग का मूल दायित्व वसूली ही है। उन्होने बिजली विभाग को निर्देश दिए कि वे प्रतिमाह पहली तारीख को आरसी का डिटेल एडीएम वित्त/राजस्व तथा एसडीएम व तहसीलदार को अवश्य उपलब्ध कराये तथा एसडीएम/तहसीलदार से समन्वय बनाये रखे। उन्होने चिन्हित भू माफियाओं के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश देते हुए कहा कि वादों का निस्तारण प्राथमिकता के आधार पर किया जाय। सचिव ने सम्पूर्ण समाधान दिवस के मामलों का निस्तारण समयबद्ध ढंग से करने के निर्देश देते हुए कहा कि निस्तारण गुणवत्तायुक्त होने चाहिए। जन समस्यायों का त्वरित निस्तारण शासन की प्राथमिकता है। मनरेगा के समीक्षा के दौरान उन्होने पीडी को निर्देश दिए कि एक अभियान के तहत शिविर लगाकर मनरेगा के जॉबकार्ड बनाए जाए ताकि अधिक से अधिक पात्रजन इस रोजगार परक योजना से लाभान्वित हो सके। सचिव ने खाद्यान्न वितरण व्यवस्था पारदर्शी एवं बेहतर बनाए रखने के निर्देश डीएसओ को देते हुए कहा कि उठान/वितरण समय से तथा उसका सत्यापन हो और यदि कही गड़बड़ी पायी जाती है तो सम्बन्धित के खिलाफ कार्यवाही की जाय। उन्होने सेतु निगम को निर्देश दिए की जो पूल बनाये जाये उसका एप्रोच रोड अबिलम्ब तैयार कर दिया जाय।
इस अवसर पर प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक सिंह, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व बीके गुप्ता, अपर जिलाधिकारी प्रशासन लवकुश कुमार त्रिपाठी सहित विभिन्न विभागों के सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे। बैठक से पूर्व सचिव/नोडल अधिकारी श्री त्रिपाठी ने रोडवेज भवन तथा कलेेक्ट्रट के विभिन्न अनुभागों का भी निरीक्षण किया। रोडवेज निरीक्षण के दौरान उन्होने जहां भवन की गुणवत्ता पर प्रसन्नता व्यक्त की वही साफ-सफाई न होने तथा गन्दगी देख अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि 15 दिन के अन्दर यहां से मलवे हटा दिए जाये ताकि बसो के संचालन में सुविधा हो। उन्होने कहा कि यात्रियों की सुविधा का पूरा ध्यान रखा जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *