किसानों, मजदूरों पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ अखिल भारतीय किसान सभा, भारतीय खेत मजदूर यूनियन का संयुक्त प्रदर्शन 

आजमगढ़। किसानों और मजदूरों पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ अखिल भारतीय किसान सभा और भारतीय खेत मजदूर यूनियन के संयुक्त रूप से मुखर हो गयी। राष्ट्रीय आह्वान पर उत्तर प्रदेश किसान सभा व उत्तर प्रदेश खेत मजदूर यूनियन जिला कमेटी द्वारा राष्ट्रपति को संबोधित सात सूत्री मांग पत्र अध्यक्ष खरपत्तू राजभर व अध्यक्ष इम्तेयाज बेग के नेतृत्व में सोशल डिक्टेंसिंग के साथ शुक्रवार को जिलाधिकारी को सौंपा गया। उत्तर प्रदेश किसान सभा के प्रदेश अध्यक्ष का इम्तेयाज बेग ने आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र व राज्य में सत्तासीन भाजपा सरकारों के जनविरोधी नीतियों के चलते किसान व मजदूर की हालात दिन प्रतिदिन खराब होती जा रही है। पेट्रोलियम पदार्थो का दिन प्रतिदिन मूल्य बढ़ोत्तरी का सबसे ज्यादा भार किसानों पर पड़ रहा है, इतना ही नहीं, विद्युत कटौती के कारण किसान अपने फसलों की सिंचाई तक नहीं कर पा रहा है, नहरों में पानी नही आने से किसान पर महंगाई की दोहरी मार पड़ रही है। उत्तर प्रदेश खेत मजदूर यूनियन के प्रदेश का खरपत्तू राजभर ने कहा कि मनरेगा कानून भ्रष्टाचार के चलते पात्र मजदूरों को काम नहीं मिल पा रहा है। जिसके कारण भूमिहीन खेतिहर मजदूरों को अपने परिवार सहित भूखें सोने को मजबूर होना पड़ रहा है। श्री राजभर ने आगे कहा कि अगर केंद्र व राज्य सरकारें उक्त भ्रष्टाचार पर रोक नहीं लगायी तो किसान सभा व खेत मजदूर यूनियन जन आंदोलन चलाने को बाध्य होगी। इस मौके पर का दुर्बली राम, का रामचन्दर, का रामकेवल, का विश्राम चौहान, का जीयालाल, का श्यामाप्रसाद शर्मा, का कमला राय व अशोक राय आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *