भवन, अन्य सन्निर्माण कर्मकारो के लिए संचालित भारत सरकार की जारी मिशन मोड प्रोजेक्ट (MMP) की गाईड लाईन्स के सम्बन्ध मे बैठक, खनन सामग्रियों के विवरण को ऑनलाइन दर्ज कराये    

आजमगढ़ : जिलाधिकारी राजेश कुमार की अध्यक्षता में भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकारो के लिए संचालित भारत सरकार द्वारा जारी मिशन मोड प्रोजेक्ट (MMP) की गाईड लाईन्स के सम्बन्ध मे बैठक आहुत की गयीl  इस अवसर पर जिलाधिकारी ने विभाग/स्थानीय निगम के अधिकारियों जैसे लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग ग्रामीण अभियंता सेवा जल निगम/ जल संस्थान नगर निगम, नगर पालिका/टाउन एरिया विकास प्राधिकरण आवास विकास परिषद एवं जिला परिषद के अधिकारियों को निर्देश दिये कि विभिन्न निर्माण स्थलों पर कार्य कर रहे निर्माण श्रमिकों का पंजीयन हेतु लक्ष्य निर्धारित किया गया। जिलाधिकारी द्वारा लक्ष्य की पूर्ति दिनांक 20  जिलाधिकारी द्वारा सितंबर 2020 तक किये जाने का निर्देश दिया गयाl बैठक में लोक निर्माण विभाग, सिचाई विभाग, विकास प्राधिकरण, विद्युत विभाग, नगर पालिका मुबारकपुर, उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम आजमगढ़, प्रबन्धक इलाहाबाद बैंक रैदोपुर आजमगढ़, के अधिकारी अनुपस्थित थेl जिस पर जिलाधिकारी ने अनुपस्थित अधिकारियों को चेतावनी जारी करने के निर्देश दिये गयेl साथ ही साथ उक्त सभी विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि लक्ष्य की पूर्ति किया जाना सुनिश्चित करेंl प्रत्येक दिवस श्रमिक पंजीयन की सूचना निर्धारित प्रारूप पर उप श्रमायुक्त राहुल नगर मडया को उपलब्ध कराया जाय।  जिलाधिकारी द्वारा सभी उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि अधिक से अधिक निर्माण श्रमिको का पंजीयन कराया जाना सुनिश्चित करें, जिससे उ0प्र0 भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा श्रमिकों के हितार्थ कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जा सके।जिलाधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि उ0प्र0 खनिज (अवैध खनन, परिवहन एवं भण्डारण का निवारण) नियमावली 2018 के प्राविधानों के अन्तर्गत फुटकर विक्रेताओं को अधिकतम 100 घन मीटर तक उपखनिज के भण्डारण अनुज्ञप्ति प्राप्त करने की अनिवार्यता नहीं है, इस हेतु विभागीय पोर्टल पर विवरण आनलाईन दर्ज कराये जाने का प्राविधान है।  उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में फुटकर विक्रेताओं को अधिकतम 100 घनमीटर तक उपखनिज के भण्डारण / विक्रय हेतु विभागीय पोर्टल updgm.in पर online application mine mitra पर पंजीकरण कराना अनिवार्य किया गया है। यदि फुटकर विक्रेताओं द्वारा विभागीय पोर्टल updgm.in पर online application mine mitra पर भण्डारण सम्बन्धी अपना विवरण पंजीयन कराये बिना उपखनिज (गिट्टी, बालू, मौरम, स्टोन डस्ट) के भण्डारण का संचालन (क्रय/विक्रय) किया जाता है तो वह उ0प्र0 उपखनिज भण्डारण नियमावली 2018 का उल्लंघन होगा। ऐसे फुटकर भण्डारणकर्ताओं के विरूद्ध उ0प्र0 उपखनिज भण्डारण नियमावली 2018 में दिये गये प्राविधानों के अधीन कार्यवाही की जाएगी। जिलाधिकारी ने जनपद आजमगढ़ के समस्त 100 घनमीटर तक उपखनिजों (गिट्टी, बालू, मौरम, स्टोन डस्ट) के फुटकर विक्रेताओं को निर्देशित किया है कि विभागीय पोर्टल पर तत्काल पंजीयन उपरान्त ही उपखनिजों के भण्डारण का संचालन (क्रय/विक्रय) किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *