नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 कार्यशाला का आयोजन, कहाअनेक आधार भूत संरचनात्मक परिवर्तन किये गए हैं जो भविष्य के विकास के चुनौती के लिए प्रासंगिक है  

अतरौलिया। पटेल मेमोरियल इंटर कालेज अतरौलिया में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें तहसील बूढ़नपुर के समस्त प्रधानाचार्य उपस्थित हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता पटेल इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ अजीत कुमार सिंह ने सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा पूर्ण मानव क्षमता को प्राप्त करने के एवं एक और न्याय पूर्ण समाज के विकास और राष्ट्रीय विकास के लिए मूलभूत आवश्यकता नहीं। शिक्षा नीति 2020 में अनेक आधार भूत संरचनात्मक परिवर्तन किये गए हैं जो भविष्य के विकास के चुनौती के लिए प्रासंगिक है। डॉ अजीत सिंह ने बताया कि इसमें बच्चों के सर्वांगीण विकास पर ध्यान दिया गया है तथा उन्हें अपनी रूचि के अनुसार विषय चुनने की स्वतंत्रता भी दी गई है। यह शिक्षा में  शिक्षार्थी के सर्वांगीण विकास के साथ-साथ रोजगार परक भी है ।10+2 के स्थान पर 5 + 3 + 4 के सोपान में दृतीय सोपान से ही बच्चों को अपने रूचि के अनुसार रोजगार योग्य बनाने का प्रयास सम्मिलित है। श्री शंकर जी इंटर कॉलेज कटवा गहजी के प्रधानाचार्य ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 पूर्णतः शिक्षार्थी केंद्रित है यह जिज्ञासा, खोज अनुभव संवाद के आधार पर  संचालित होगी । इसे अत्यधिक लचीली बनाया गया है। नए डिजिटल युग के अनुरूप शिक्षक, शिक्षार्थी को तैयार करना इसमें सम्मिलित है। यह सर्व समावेशी और उत्कृष्टता पर जोर देती है। इसमें बच्चों के सतत मूल्यांकन को महत्वपूर्ण माना गया है जिससे वे परीक्षा के भय से मुक्त हो सके।नई शिक्षा नीति  2020 के सतत विकास एजेंडा 2030 के लक्ष्य – 4 को प्राप्त करने के अनुकूल है। इस कार्यशाला में अरुण कुमार सिंह ,डॉक्टर सुधीर कुमार सिंह, डॉ वीके यादव, ज्ञान प्रकाश सिंह ,और बुढ़नपुर तहसील के समस्त प्रधानाचार्य मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *