दबंगों के उत्पीड़न से परेशान गरीब ने एसपी से ईच्छा मृत्यु मांगी, 30 किमी पैदल चल पहुंचे एसपी ऑफिस, स्थानीय पुलिस के कार्रवाई न करने से पीड़ित परिवार दूसरे गांव में गुजर बसर कर रहा

आजमगढ़ में दबंगों के उत्पीड़न से परेशान गरीब ने एसपी से ईच्छा मृत्यु मांगी है। स्थानीय पुलिस के कार्रवाई न करने से पीड़ित परिवार दूसरे गांव में गुजर बसर कर रहा है। पीड़ित दंपति के गले में तख्ती लटकाकर 30 किमी पैदल चलकर एसपी कार्यालय पहुंचने से हड़कंप मच गया।बताया कि दबंगों के हमले से पीड़ित महिला का गर्भ नष्ट हो गया। शिकायत के बाद भी थाना पुलिस दबंगों पर मेहरबान है, इसलिए पूरा परिवार मौत चाहता है। पूरा मामला रौनापार थाना क्षेत्र का है पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर न्याय की गुहार और इच्छा मृत्यु का अधिकार मांगते पीड़ित राम विनय यादव पुत्र मुरारी यादव निवासी ग्राम बसवरिया आराजी देवारा करखियां थाना रौनापार ने बताया कि गांव के कुछ दबंग लोग राजनीतिक रसूख वाले व्यक्ति हैं। अप्रैल माह में घर में इन लोगों ने घुसकर उसे, पत्नी रीना यादव, बुजुर्ग माता-पिता को बुरी तरह से मारा पीटा था। उस समय पत्नी गर्भवती थी। पेट पर लात मारने से ब्लड आने लगा जिसे महिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया जहां बच्चे की पेट में ही मौत हो गई थी। जिसकी लिखित सूचना थाना रौनापार में दी गई थी। कार्यवाही ना होने के कारण यह लोग आए दिन मारपीट करते हैं। जब इसकी सूचना थाने पर लेकर जाते हैं वहां गाली गलौज देकर भगा दिया जाता है। लगभग 4 दिन पहले जान से मारने की नियत से यह लोग घर में घुसे, समय रहते ही इसकी जानकारी मिल जाने से अपने परिवार को लेकर दूसरे गांव में छिप गए। दूसरे दिन मेरे माता पिता दवा लेने जा रहे थे नसीरपुर बाजार के पास उन्हें रोककर मारा पीटा। उसके बाद से लगातार उसे और उसकी पत्नी, बच्चों को जान से मारने के लिए ढूंढ रहे हैं। अपनी जान बचाने के लिए दर-दर भटक रहे हैं। पीड़ित परिवार ने मांग की कि परिवार के जान माल की सुरक्षा की जाए और जांच कराकर दोषियों के खिलाफ उचित कार्यवाही की जाए। या इच्छा मौत का अधिकार दिया जाए। दिहाड़ी मजदूरी कर पेट भरता है। इन लोगों की डर की वजह से दर-दर भटक रहा है। पुलिस अधीक्षक ने मामले में तत्काल संज्ञान लेते हुए थाना अध्यक्ष रौनापार को फोन करके अविलंब कार्यवाही के लिए निर्देशित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *