ब्लॉक परिसर पर मनरेगा की मजदूरी ना मिलने से ग्राम प्रधान व खंड विकास अधिकारी के खिलाफ ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शन

आजमगढ़ : बूढ़नपुर के विकासखंड कोयलसा के बांसी जप्ती माफी के ग्रामीणों ने बृजेश पटेल के नेतृत्व में ब्लॉक कोयलसा के परिसर में मनरेगा की मजदूरी ना मिलने से ग्राम प्रधान व खंड विकास अधिकारी के खिलाफ किया विरोध प्रदर्शन। विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वाले लालता वीरेंद्र शनि जंकु राम हरक पतिराम पति राज लच्छीराम रमिंदर तारा देवी सोनमती श्याम अवध शीला खुशहाल परमी अमृता सोनमती लालता अनेक मजदूरों ने लिया हिस्सा। बता दे की ग्राम प्रधान प्रभावती द्वारा ग्राम सभा के 19 मई 2016 को ग्राम सभा के 45 मजदूरों द्वारा मनरेगा योजना के तहत  ग्राम सभा की पोखरी की खुदाई कराई गई थी जिसमें सभी मजदूरों ने 35 से 40 कार्य दिवस पर कार्य किया । लेकिन ग्राम प्रधान के लापरवाही के चलते हैं आज तक इन 45 मजदूरों को उनकी मजदूरी नहीं मिल पाई जिसकी शिकायत मजदूरों द्वारा कई बार खंड विकास अधिकारी कोयलसा से की गई उसके बावजूद भी भुगतान नहीं किया गया भुगतान में विलंब को देखते हुए ग्रामीणों ने मुख्य विकास अधिकारी व उप जिलाधिकारी से भी इसकी शिकायत की गई उसके बावजूद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई समाजसेवी बृजेश पटेल बताया कि जब भी उच्च अधिकारियों से शिकायत की जाती है तो प्रार्थना पत्र विकासखंड कोयलसा आकर रुक जाता है हमेशा खंड विकास अधिकारी द्वारा आश्वासन देकर के इन मजदूरों को वापस कर दिया जाता है इस बार अगर भुगतान 25 अगस्त तक नहीं होता है तो  श्रमिकों द्वारा भूख हड़ताल और आत्मदाह की चेतावनी दे गए इस संबंध में श्रमिकों ने उपजिलाधिकारी बुढ़नपुर दिनेश मिश्रा को आज पुन ज्ञापन सौंपा उपजिलाधिकारी  दिनेश मिश्र ने श्रमिकों को  आश्वासन देते हुए कहा कि शीघ्र ही भुगतान कराया जाएगा उन्होंने तुरंत प्रार्थना पत्र को खंड विकास अधिकारी कोयलसा को सौंपा और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कर मजदूरों के शीघ्र भुगतान की बात कही। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *